Papaya in Hindi

पपीता के ५ रोमांचक फायदे जिसे आप हैरान हो जाओगे।

जानकारी।

Papaya in Hindi, हिंदी में Papaya को पपीता कहाँ जाता हैं। पपीता कैरिका जीनस में एक लंबा शाकाहारी पौधा होता है। इसके ऊपर उगने वाले खाने लायक फलो को पपीता कहाँ जाता हैं। इस फल को आमतौर पर उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में उगाया जाता हैं।

यह कम तापमान में नहीं उग सकते। यह जीनस नामक प्रजाति में एकमात्र प्रजाति मौजूद है। सामान्य नाम टैनो शब्द पपाइया से आया है जिसे स्पेनिश में पपीता में बदल दिया गया था, इसी कारन यह पपीता के नाम से लोकप्रिय हैं। इसके पोधो को पपीर कहाँ जाता हैं। आम तौर पर, यह फल आकर में अंडाकार से लगभग गोल होते हैं।

जब यह कच्चे होते हैं, तब यह बाहर से हरे रंग के होता हैं। और यह जब खाने लायक यानिकि पक्क जाते हैं तो यह धीरे धीरे पिले और नारंगी रंग के होने लगते हैं। फल के अंदर कई छोटे काले बीज होते हैं। पपीते का छिलका और बीज निकाल कर ताजा खाया जाता सकता है। इसका जूस बनाकर कर भी लाभ लिया जाता हैं। इसको खाने के बहोत सारे लाभ होते हैं।

हम इस लेख में पपीता खाने से होने वाले लाभ यानिकि इसके फायदे भी देखेंगे। साथ ही साथ हम इसके तथ्य यानिकि Facts भी देखेंगे। तो चलिए देखते हैं।

Papaya in Hindi

Benefits of Papaya in Hindi

पपीता के फायदे।

  • पपीता पोषक तत्वों से भरपूर होता हैं।

पपीता में महत्वूर्ण पोषक तत्व मौजूद होते। जैस की, कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, रेशा, प्रोटीन, विटामिन C , विटामिन A , फोलेट (विटामिन B 9), पोटैशियम, कैल्शियम,, मैग्नीशियम और विटामिन B 1, B 3, B 5, E , और K । यह पोषक तत्व आपके स्वास्थ को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता हैं। इसी कारन पपीता पोषक तत्वों से भरपूर होता हैं।

  • पपीता आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देता हैं।

पपीता में विटामिन A , विटामिन B , विटामिन C और विटामिन K इन विटामिन्स का एक बड़ा स्रोत है। और इस फल को एक उत्कृष्ट प्रतिरक्षा बूस्टर के रूप में जाना जाता है। पपीता आपको विटामिन की दैनिक आवश्यकता को दोगुना करता है, जिसे आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा मिलता हैं। यह प्रतिरक्षा प्रणाली आपको स्वस्थ रखने में मदद करता हैं। इसी कारन पपीता आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देता हैं।

  • पपीता आपके बालों को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता हैं।

पपीता आपके बालो के लिए बहोत ही फायदेमंद होता हैं। पपीता में विटामिन A मौजूद होता हैं। जो आपके बालो को आवश्यक पोषक तत्व देता हैं, जिसे बाल मॉइस्चराइज रहते है। यह विटामिन A त्वचा और बालों सहित सभी शारीरिक ऊतकों के विकास के लिए आवश्यक होता है। पपीता में विटामिन C भी होता हैं, जो त्वचा को संरचना प्रदान करता है। जिसे बालो के सहित त्वचा भी स्वस्थ रहती हैं, पपीता के सेवन से। इसी कारन पपीता आपके बालों को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता हैं।

  • पपीता आपकी त्वचा के लिए अच्छा है।

पपीते के बीज एंटी-एजिंग गुण प्रदर्शित करते हैं। जो हमारी त्वचा की लोच बनाए रखने में मदद करते हैं। और इस प्रकार महीन रेखाओं और झुर्रियों के विकास को रोकनई में भी मदद करता हैं। इसी कारन पपीता आपकी त्वचा के लिए अच्छा है।

  • पपीता आपके हड्डीयों को मजबूत बनता हैं।

पपीता में विटामिन K मौजूद होता हैं। जो आपके हडियो के स्वास्थ के लिए अच्छा होता है। विटामिन K आपके कैल्शियम के अवशोषण में सुधार करता है। जिसे हड्डियों को मजबूत और पुनर्निर्माण करने के लिए शरीर में अधिक कैल्शियम होता है। जो हड्डियों को मजबूत करने में बहोत ही सहायता करता हैं। इसी कारन पपीता आपके हड्डीयों को मजबूत बनता हैं।

Papaya in Hindi

Facts of Papaya in Hindi

पपीता के तथ्य (Facts)।

  1. पपीता फल वास्तव में एक बड़ा बेर है।
  2. पपीता एक उष्ण कटिबंधीय फलदार वृक्ष है और यह पपाव और पावपा के नाम से भी प्रसिद्ध है।
  3. एक समय था जब पपीते को एक विदेशी फल माना जाता था क्योंकि यह मेक्सिको और मध्य अमेरिका में पाया जाता था।
  4. पपीता कैरिका पपीता के पेड़ से संबंधित है।
  5. पपीता फूल वाले पौधे हैं। वे सफेद फूल पैदा करते हैं जिनमें प्रत्येक में पाँच पंखुड़ियाँ होती हैं।
  6. हवाई पपीता छोटा होता है और नाशपाती के आकार का होता है।
  7. पपीते के पेड़ की शाखाएं नहीं होती हैं।
  8. पपीते के पेड़ की पत्तियां पेटीओल्स पर उगती हैं जो लगभग क्षैतिज होती हैं।
  9. पपीते के पेड़ के हर हिस्से में लेटेक्स होता है।
  10. पपीते के काले बीजों का स्वाद तीखा और तीखा होता है।
  11. पपीते के बीजों को पीसकर काली मिर्च के विकल्प के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

Papaya in Hindi

पपीता के ५ रोमांचक फायदे जिसे आप हैरान हो जाओगे।


MORE INFORMATION

Dates Fruit in Hindi

सारे फलो की जानकारी। All fruits in Hindi, थोडीसी जानकारी।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.